किस्मत कितनी भी अच्छी हो कर्म तो करना ही पढता है

किस्मत कितनी भी अच्छी हो कर्म तो करना ही पढता है

एक किसान था उसने अपने घर पर एक कुत्ता और एक खरगोश पाल रखा था धीरेधीरे वह दोनों उसके अच्छे दोस्त भी बन गये थे एक बार किसान उन दोनो की परिक्षालेनी चाही की दोनों में कर्मठ और बुद्धिमान कौन है उसके लिए किसान ने दोनों कोबुलाया और बोला की मैंने खेत में कुछ सोने की मोहरे की पोटली गाड़ दी  है जो उसे सूर्यास्तके पहले खोज लेगा उसे वह मोहरे इनाम में मिल जाएगी दोनों खेत गये तो खरगोश अपनेछोटे पैर होने के वावजूद भी पूरे खेत को खोदता रहा लेकिन वही कुत्ता खेत के आकरबैठ गया और यह बोल रहा था की किसान हमको वेवकूफ बना रहा है मुहरे का लालच देकर अपनाखेत खुदवा रहा है लेकिन खरगोश ने कुत्ते की बात न मानते हुए अपनी उम्मीद नही खोयीऔर लगातार खेत को खोदता रहा लेकिन सूर्यास्त होने को आरहा था लेकिन मुहरे अभी तकनही  मिली यह सब देख कर कुत्ता लगातार हसरहा था की मैंने बोला था हम वेवकूफ बन रहे है चल छोड़ अब घर चलते है खरगोश ने भीदेखा की मैंने पूरा खेत तो खोद डाला लेकिन अभी तक मुहरे तो मिली नही लेकिन उम्मीदन छोड़ने के कारण उसके दिमाग में एक बात आई तभी उसने कुत्ते से बोला उठो खेत से सभीजगह तो खोद डाला लेकिन जहा आप बैठे थे वह बची है जैसे कुत्ता उठा खरगोश ने जल्दीजल्दी उस जगह को भी खोदना चालू किया और वही हुआ उसे मुहरे मिल ही गई

work must
Moral of the Story

किस्मत कितनी भी अच्छी हो लेकिन कर्म तो करना ही पड़ता हैकुत्ते की किश्मत कितनी अच्छी थी सफलता उसके नजदीक थी लेकिन उकी नकारात्मक सोच केकारण उसने कर्म नही किया वही पर खरगोश  कीसकारात्मक सोच होने के कारण तकलीफों के बावजूद भी वह कर्म करता रहा  उसे अपनी सफलता हासिल हुई ऐसा ही हमारे बिज़नेसमें भी भी होता है इसीलिए हमे अपने ऊपर भरोषा करते ह्युए डायमंड के उम्मीद रखकरलगातार कर्म पर फोकस करे

<
No matter How many good luck you have but you have to done your work must

There was a farmer who had kept a dog and a rabbit in his house. He slowly became both his good friends. Once the farmer asked for the examinations, both of them were skilled and skilled, both for whom the farmer called and said I have plucked a few golden coins in the field, which will find it before sunset, it will be rewarded in the reward. If both fields go then the dog will have its feet In spite of this, the rabbit was digging the entire farm, but the same dog came to the farm and it was saying that the farmer is making us fool, he has been doing his work by giving greed to the face but the rabbit does not lose his hope while not believing the dog and continuously Dug the field but sunset was supposed to happen but seeing the face was not found yet, the dog was constantly smiling. I said that we are becoming the fool. The house goes and the rabbit also saw that I dug up the whole farm, but still there was no gold coin but due to leaving the promise, one thing came to his mind. Then he said to the dog, Rise up all the space from the farm, but where you were sitting as the dog picked up, the rabbit started digging that place in a hurry and that same thing got his face.
How good is luck, but it does have to do work. It was so good that the dog which was so good that success was closer to him but because of negative thinking he did not do the work, despite the rabbit’s negative thinking, despite the difficulties he continued to do his work, The same happened in our business as well, so let us focus on continuous work with the expectation of  Diamond, trusting himself.

Author: BRC Tech

5 thoughts on “किस्मत कितनी भी अच्छी हो कर्म तो करना ही पढता है

Leave a Reply